क्रिकेट बैटिंग टिप्स इन हिंदी | cricket batting tips in hindi

क्रिकेट बैटिंग टिप्स इन हिंदी | cricket batting tips in Hindi

क्रिकेट बैटिंग टिप्स इन हिंदी | cricket batting tips in hindi
क्रिकेट बैटिंग टिप्स इन हिंदी | cricket batting tips in hindi
क्या दोस्तों आप मैच खेल तें हो या प्रैक्टिस कर तें हो तो जल्दी से आउट हो जातें हो ? क्या आप २ या ३  रन ही बना पा तें हो तो ? दोस्तों   में ने जो निचे दी गए वीडियो ७ रीज़न के बारे में बताया है| इस के बारे में अछि तरीके से जान ले गे तो यकीं मानिये आप मैच में लम्बी पारी भी निकाल पाएंगे और रन भी लगा पाएंगे | क्रिकेट में अछि बैटिंग के लिए कुछ बातो कभी भी अंडर एस्टीमेट नहीं कर ना चाहिए | कुछ ऐसी छोटी बात भी आप की बैटिंग को बिगाड़ सकती है |  इस लिए इन बातो को समझकर अपने क्रिकेट में सुधार ने की ज़रुरत पड़ती है |





Continue reading »

Top Cricket Academy In Delhi | दिल्ली की 5 बेस्ट क्रिकेट अकादमी

Top Cricket Academy In Delhi | दिल्ली की 5 बेस्ट क्रिकेट अकादमी

एक अच्छा क्रिकेटर बनने के लिए अच्छी शुरुआत मिलना बहुत जरुरी है। अगर आप या आपका बच्चा भी अपने करियर में एक अच्छा क्रिकेटर बनना चाहता है तो उसको अच्छी क्रिकेट अकादमी में कोचिंग लेना बहुत जरुरी है। दिल्ली में यूं तो कई छोटी-बड़ी क्रिकेट अकादमी दिल्ली में मौजूद है लेकिन अच्छी कोचिंग के लिए बेस्ट अकादमी का चुनना बहुत ही जरुरी है। आइये जान लेते है दिल्ली की 5 बेस्ट क्रिकेट अकादमियों के बारें में:
Top Cricket Academy In Delhi | दिल्ली की 5 बेस्ट क्रिकेट अकादमी
Top Cricket Academy In Delhi | दिल्ली की 5 बेस्ट क्रिकेट अकादमी


द्रोणाचार्य क्रिकेट अकादमी

 क्रिकेट की स्किल्स और खेलने की तकनीक को सुधारने के लिए द्रोणाचार्य क्रिकेट अकादमी बहुत ही अच्छी मानी जाती है। इस अकादमी की शुरुआत साल 2000 में द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता गुरुचरण सिंह द्वारा की गई थी। गुरुचरण सिंह अब तक हज़ारों बच्चों को कोचिंग दे चुके है, जिनमें से 12 इंटरनैशनल और 100 से भी ज्यादा नैशनल प्लेयर बनकर उभरे है। यह अकादमी पूर्वी दिल्ली के विवेक विहार इलाके में स्थित है। कोचिंग की फीस की बात करें तो यहां पर प्राइवेट और रेगुलर कोचिंग के हिसाब से फीस ली जाती है। रेगुलर कोचिंग की एक महीने की फीस 2,000 रुपए है और प्राइवेट कोचिंग की फीस 30 हज़ार रुपए महीने से शुरु होती है। 


मदनलाल क्रिकेट अकादमी

यह क्रिकेट अकादमी पूर्व भारतीय क्रिकेटर मदनलाल द्वारा चलाई जाती है। इस अकादमी का इंफ्रास्ट्रक्चर अन्य क्रिकेट अकादमियों के मुकाबले काफी बेहतर है। काफी कम उम्र से ही यह अकादमी आपके खेलने के तरीके में बेहतर कर एक अच्छा क्रिकेटर बनने में मदद करती है। इस अकादमी से अब तक लगभग 80 ऐसे खिलाड़ी बाहर निकल चुके है जो रणजी समेत कई फर्स्ट क्लास मैच में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर रहे है। यह अकादमी नई दिल्ली के श्रीफोर्ट कॉम्प्लैक्स में संचालित की जाती है। इस अकादमी की रेगुलर कोचिंग की फीस लगभग 2500 रुपए महीना है।

 सहवाग क्रिकेट अकादमी 
2011 में वर्ल्डकप जितने के बाद भारत के धुरंधर बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने इस क्रिकेट अकादमी की शुरुआत की थी। 23 एकड़ में फैली इस क्रिकेट अकादमी में वर्ल्ड क्लास सुविधाएं उपलब्ध कराने की बात कही जाती है। इस अकादमी की खास बात है कि क्रिकेट के अलावा फुटबॉल, टेनिस और स्वीमिंग जैसे स्पोर्ट्स भी यहां पर आप खेल सकते है। यहां हर उम्र के बच्चों के लिए कोचिंग उपलब्ध है। सहवाग के अलावा कई इंटरनैशनल प्लेयर्स भी यहां आकर बच्चों को क्रिकेट की टिप्स देते रहते है। इसकी मुख्य ब्रांच हरियाणा के झज्जर इलाके में हैं, इसके अलावा कुछ प्राइवेट स्कूलों में भी इसकी ब्रांच खुली हुई है।

वेस्ट दिल्ली क्रिकेट अकादमी
भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने इसी क्रिकेट अकादमी में अपनी ट्रेनिंग ली थी। उन्होंने मात्र 8 साल की उम्र में क्रिकेट की कोचिंग लेना शुरु कर दिया था। इस क्रिकेट अकादमी की शुरुआत 1998 में राज कुमार शर्मा ने की थी। उनका उद्देश्य था कि विश्व के सबसे बेहतरीन क्रिकेटर वह ढूंढ सकें। दिल्ली के पश्चिम विहार इलाके समेत उनकी कुल चार ब्रांच है। राज शर्मा आज भी इस अकादमी के सबसे सीनियर कोच है। इस अकादमी की में दाखिला लेने की रजिस्ट्रेशन फीस 20 हज़ार रुपए है और इसके अतिरिक्त 2 हज़ार रुपए की भी मासिक फीस है। गर्मियों की छुट्टियों में बच्चों के लिए स्पैशल समर कैंप का आयोजन भी इस अकादमी में किया जाता है।

 दिल्ली क्रिकेट लीग अकादमी 
दिल्ली क्रिकेट लीग अकादमी की स्थापना साल 2008 में की गई थी। इस अकादमी का नाम दिल्ली की आईपीएल टीम के नाम पर रखा गया था। यह अकादमी अन्य क्रिकेट अकादमी से काफी अलग है। गली-मौहल्ले के गरीब बच्चों को यह अकादमी, क्रिकेट के क्षेत्र में अपना करियर बनाने का मौका देती है। समय-समय पर बच्चों के लिए यह टूर्नामेंट का आयोजन भी कराती रहती है। इन मैच में खेलने के लिए बच्चों को किसी तरह के एक्सपीरियंस की जरुरत नहीं पड़ती। कई बड़ी-बड़ी कंपनियां इन मैच को स्पोंसर करती है। मात्र 500 रुपये के मासिक शुल्क के साथ कोई भी इस अकादमी में कोचिंग ले सकता है।
Continue reading »

Cricket Batting Tips in Hindi | Cricket Batting Karne ke tarike

Cricket Batting Tips in Hindi | Cricket Batting Karne Ke Tarike

Cricket Batting Tips in Hindi |  Cricket batting
Cricket Batting Tips in Hindi | Cricket batting
Guys, if you have just started playing cricket and if you want to make a long career in cricket, then we are giving this article to betting tips. He will have to follow you, so that your batting skills will improve and you will be able to choke and choke on any ball, even if the baller does not have a Q in the form.

 Batsmen If Wash and The Ball Goes Out Of Hand, Then A Good Batsman Can Only Save The Match And Can Get More So There Is A Lot Of Values ​​In Batsmen In Cricket , The Walled Viewer likes the cheapest batsmen , It is very important for a good batsmen to do a good batting condition.

So, If You Follow the Cricket Tips We Will Certainly Be A Good Batsman Fitness Is Very Important For Good Batting Cricket In It Is Very Important To Have Good Batters In Full K Virat Kohli, like a great batsman, has worked for 3 hours
Cricket Batting Tips in Hindi |  Cricket batting
Cricket Batting Tips in Hindi | Cricket batting

So friends do not have to work for 3 hours everyday like Virat Kohli One out of this Sprint for 30 minutes is to run for 30 minutes And work out in the gym for 1 hour Then your body will be slim and powerful and flexible. Friends, a cricketer has to be flexible and fit like a dancer, only if he is battered and fielding. Along with the fit, you will have to improve the meditation, for this also give meditation for 10 minutes daily. Why meditation is very ego in the batting and meditation

 Regarding the daily practice of batting, one batsmen should get cold or heat their routine practice routine. Then the good batting will be improvised. Professational batmen practices batting for 2 hours daily. You also have to adjust the scheduling of the day, you can set 1 hour in the morning and 1 hour in the evening.
Cricket Batting Tips in Hindi |  Cricket batting
Cricket Batting Tips in Hindi | Cricket batting


If you can practice your net practice, you can record the video and later the video that you have done during your presentation. Not Do Over Load Batting Practice Is There A Possibility That Will Not Be Able To Do Any Work Stretch Your Body Before Batting And Even After Batting
During the net practice, use the island heavily and use a weighted bag from it in the match. If possible, keep the net time Pay attention to batting practice with catch and fielding practice Give 1 or 2 days in the week. But focus on more batting practice Improving your batting, watching the video of the shot of 1 hour of good batsmen daily and try to learn from it, good batman should always keep learning new shots. 
Cricket Batting Tips in Hindi |  Cricket batting
Add caption

In International Cricket Coaching, the coach prepares the batman If you have a new cricket join, then you should make a friendship with your old age and good batting. This will help you get better batting Talking to Ranji Trophy player once a month, whatever you do not understand in batting, ask him and take information about batting Friends do not make you a great cricketing cricketer and do not play until India level The Achdi Academy and take training from Acha Coach Experienced academy and experienced coach and join the academy before looking at the tax that they are training with modern technology in the academy. 
Cricket Batting Tips in Hindi |  Cricket batting
Cricket Batting Tips in Hindi | Cricket batting


And also know how many children have played till date, from that academy associated with the academy in which there are few children and they also see how batmsmen train a train. Many times it is possible that when we have joined a large academy, so many children are in it, then all the legs do not pay attention to the coach goods so that there is no proper training available. 2 hours or more, if you get more batting than this, your batting will get much better effect. 

Join an academy where every week will keep a match with another big team and give it to you. Only Not Do Batting Practice Friends, Cricket Batting Is A Good Practice For Every Day, Good Practice And Good Coach And Great Fitness If You Set It In Mind, Then No One Can Stop You From Becoming An Outsider Battingman K Friends, This is very helpful for you
Continue reading »

रनिंग स्टेमिना बढ़ाने के तरीके उपाय | Running Stamina Tips In Hindi

रनिंग स्टेमिना बढ़ाने के तरीके उपाय | Running Stamina Tips In Hindi  

दोस्तों क्रिकेट में रनिंग स्टेमिना बहुत ही ज़रूरी है | क्योंकि क्रिकेट में बैटिंग बोलिंग और फील्डिंग में रनिंग स्टेमिना की बहुत ही ज़रुरत है | अगर आप रनिंग अपनी इम्प्रूव करोगे तो आप का क्रिकेट और भी बहेतर हो गा | क्रिकेट के अलावा दोस्तों शरीर को ताकतवर बनाने के लिए स्टामिना का अच्छा होना बहुत जरुरी है। कई लोग कुछ कदम चलते ही थक जाते है या फिर कोई भी मेहनत का काम वह ज्यादा देर तक नहीं कर पाते।

ऐसी सभी दिक्कत स्टामिना की कमी के कारण ही होती है। कई लोगों का मानना है कि स्टामिना केवल स्पोर्ट्स से जुड़े लोगों के लिए जरुरी होता है, लेकिन ऐसा नहीं है। स्पोर्ट्स पर्सन के अलावा आम व्यक्ति को रोजमर्मा की ज़िन्दगी में भी अच्छे स्टामिना की काफी जरुरत होती है। आइये जानते है स्टामिना बढ़ाने के कुछ आसान उपाय:
रनिंग स्टेमिना बढ़ाने के तरीके उपाय | Running Stamina Tips In Hindi
रनिंग स्टेमिना बढ़ाने के तरीके उपाय | Running Stamina Tips In Hindi  


रोज़ाना करसत करें

पूरे दिन आप जिस शरीर से काम लेते है उसके लिए रोज़ाना कम से कम आधे घंटे का वक्त जरुर निकालें। आधे घंटे की कसरत से आपका स्टामिना धीरे-धीरे बढ़ने लगेगा। अच्छे स्टामिना के लिए आपको फिज़िकल के साथ मेन्टली फिट भी होना जरुरी है। मन को शांत रखने के लिए रोज़ाना कुछ देर योगा करने से आपको काफी लाभ मिलेगा।

दिमाग को धोखा देने की कोशिश करें

फिल्म थ्री इडियट में आमिर खान ने बताया था कि हमारा दिमाग बहुत ही बुद्धु होता है। हम इसे आसानी से धोखा दे सकते है। कुछ ऐसा ही दौड़ लगाते समय भी करना चाहिए। रोज़ाना अपने सेट टारगेट से ज्यादा दौड़ने का प्रयास करें। अगर आप एक किलोमीटर दौड़ते की सोचते है तो डेढ़ किलोमीटर दौड़ने का प्रयास करें। डेढ़ किलोमीटर के ट्रैक को एक किलोमीटर समझकर दौड़े। इसी तरह धीरे-धीरे अपना टारगेट बढ़ाए। ऐसा करने से आपका स्टामिना भी बढ़ेगा और शरीर भी ताकतवर बनेगा।

पौष्टिक आहार से मिलेगा लाभ

अच्छा स्टामिना पाने के लिए आपको अपने खानपान का भी विशेष ध्यान रखना है। स्वस्थ्य आहार से आपके शरीर को ताकत मिलती है। अपने भोजन में हरी सब्जियां एवं फलों को शामिल करें। स्टामिना बढ़ाने के लिए बॉडी को विटामिन सी, प्रोटीन और आयरन की जरुरत होती है। इसके लिए केला, पीनट बटर, डेरी प्रॉडक्ट्स, दलिया जैसी वस्तुओं का ज्यादा से ज्यादा सेवन करें।
रनिंग स्टेमिना बढ़ाने के तरीके उपाय | Running Stamina Tips In Hindi
रनिंग स्टेमिना बढ़ाने के तरीके उपाय | Running Stamina Tips In Hindi  


पानी ज्यादा से ज्यादा पीयें

हमारे शरीर में 70 प्रतिशत वजन पानी का ही होता है। शरीर को स्वस्थ्य रखने और स्टामिना बढ़ाने के लिए ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए। पानी आपके शरीर को डीहाईड्रेट होने से बचाता है। सभी डॉक्टर भी रोज़ाना कम से कम आठ गिलास पानी पीने की सलाह देते है। ज्यादा पानी पीने से आपके शरीर की गन्दगी भी बाहर निकलती है।

पूरी नींद लें

शरीर को मजबूत बनाने के लिए और उसका स्टामिना बढ़ाने के लिए आपको आराम की बहुत जरुरत है। रोज़ाना कम से कम 7-8 घंटे की नींद अवश्य लें। अधुरी नींद से आपकी रोग-प्रतिरोधक क्षमता कम होती है, जिससे आपके बार-बार बीमार होने की संभावना बढ़ जाती है। पूरी नींद लेने से आप दिनभर फ्रैश फील करेंगे। नशे से रहे दूर अपना स्टामिना बढ़ाने के लिए सिगरेट, तम्बाकू, शराब और ड्रग्स जैसी सभी बुरी आदतों से दूर रहना चाहिए। नशा आपके शरीर को अन्दर ही अन्दर से खोखला बना देता है।
रनिंग स्टेमिना बढ़ाने के तरीके उपाय | Running Stamina Tips In Hindi
रनिंग स्टेमिना बढ़ाने के तरीके उपाय | Running Stamina Tips In Hindi  



नशा करने वाला व्यक्ति कोई भी काम करते हुए बहुत जल्दी थक जाता है। शौक के तौर पर शुरु करने वाला नशा कब आदत का रुप ले लेता है, इस बात का हमें बिल्कुल अंदाजा नहीं होता। तो दोस्तों अगर आपको अपना स्टामिना बढ़ाना है और अपने शरीर को ताकतवर बनाना है तो अभी से ऊपर दी गई 6 टिप्स का फोलो करना शुरु कर दें और कुछ ही दिनों में नतीजा आपके सामने होगा।
Continue reading »

Essay On my favourite game cricket in hindi | मेरा प्रिय खेल क्रिकेट पर निबंध


Essay On my favorite game cricket in Hindi | मेरा प्रिय खेल क्रिकेट पर निबंध

फुटबॉल, बास्केटबॉल, बैडमिंटन समेत मैं कई तरह के खेल खेलता हूं, लेकिन क्रिकेट मेरा सबसे प्रिय खेल है। मुझे बचपन से ही क्रिकेट में सबसे ज्यादा रुचि रही है। मैंने मात्र 4 साल की उम्र में क्रिकेट खेलना शुरु कर दिया था। चाहे कितनी भी सर्दी या गरमी क्यों ना हो, मैं रोज़ाना अपने दोस्तों के साथ क्रिकेट खेलने पार्क जाता हूं। सुबह जल्दी उठकर क्रिकेट खेलने में मुझे काफी मजा आता है।
Essay On my favourite game cricket in hindi
Essay On my favourite game cricket in hindi



हमारी क्रिकेट टीम पूरे मौहल्ले में लोकप्रिय है। मेरे माता-पिता अक्सर मुझे क्रिकेट पर कम ध्यान देने के लिए कहते है। वे कहते है कि क्रिकेट के कारण मैं पढ़ाई पर कम ध्यान देता हूं। लेकिन ऐसा नहीं है मैं क्रिकेट के साथ-साथ पढ़ाई में भी पूरा ध्यान देता हूं। मैं बड़ा होकर विराट कोहली जैसा अच्छा क्रिकेटर बनना चाहता हूं। क्रिकेट खेलते समय मुझे बैटिंग करना सबसे अच्छा लगता है।


क्रिकेट की एक टीम में 11 खिलाड़ी होते है। दो टीमों के बीच खेले जाने वाले इस खेल में एक टीम बल्लेबाजी करती है और दूसरी टीम गेंदबाजी। पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम पहले दूसरी टीम को एक लक्ष्य देती है। अगर दूसरी टीम तय ऑवर्स से पहले वह लक्ष्य हासिल कर लेती है तो उस टीम को विजेता घोषित कर दिया जाता है। अगर पहले वाली टीम दूसरी टीम को लक्ष्य का पीछा करने से पहले ही आउट कर देती है तो वह विजेता टीम कहलाती है। पूरे मैच के दौरान दोनों टीमों में से जो खिलाड़ी सबसे बेहतर प्रदर्शन करता है उसे मैन ऑफ द मैच का अवॉर्ड भी दिया जाता है।
Essay On my favourite game cricket in hindi
Essay On my favourite game cricket in hindi


 टीवी पर जब भी भारत की टीम का मैच आता है तो मैं कभी मिस नहीं करता। भारत-पाकिस्तान के बीच मैच मुझे सबसे पसंद है। विराट कोहली के अलावा सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग, महेंद्र सिंह धोनी और युवराज सिंह मेरे पसंदीदा क्रिकेटर्स है। एक बार दिल्ली के फिरोजशाह कोटला में मैं इंडिया टीम का मैच देखने भी गया था। वह दिन मेरी ज़िन्दगी के सबसे अच्छे दिनों में से एक था। उस मैच में भारत ने श्रीलंका को हराया था। क्रिकेट खेलने के कई फायदे भी होते है।

क्रिकेट खेलने से आप हमेशा फिट रहते है। बल्लेबाजी, गेंदबाजी और फील्डिंग के समय आपके शरीर की अच्छी कसरत हो जाती है। इसके अलावा आपका स्टामिना बढ़ाने में भी क्रिकेट काफी मदद करता है। पढ़ाई करते-करते कई बार मैं काफी बोर हो जाता हूं। ऐसे में कुछ देर दोस्तों के साथ क्रिकेट खेलने पर मैं रिफ्रैश फील करने लगता हूं। क्रिकेट खेलते समय वीडियो गेम औज कंप्यूटर पर भी मेरा ध्यान नहीं जाता। क्रिकेट मेरी लाइफ का एक जरुरी हिस्सा बन गया है।

किसी दिन अगर मैं क्रिकेट नहीं खेलता तो अधुरा अधुरा सा लगता है। बीमार होने पर मम्मी कहती है कि घर पर आराम कर लेकिन मैं फिर भी क्रिकेट खेलने चला जाता हूं। क्रिकेट खेलने से मेरी बीमारी भी दूर हो जाती है। जल्द ही मैं क्रिकेट सीखने के लिए कोचिंग लेना भी शुरु कर दूंगा। मेरे सभी दोस्त कहते है कि एक दिन मैं बहुत अच्छा खिलाड़ी बनूंगा, लेकिन मैं बड़ा होकर डॉक्टर भी बनना चाहता हूं। दादी मां कहती है ये तो वक्त ही बताएगा कि मैं बड़ा होकर क्या बन पाता हूं।
Continue reading »

Cricket Coaching In Hindi Tips | 7 आदते आप को बना सकती है महान क्रिकेटर

Cricket Coaching In Hindi Tips | 7 आदते आप को बना सकती है महान क्रिकेटर

This video about cricket coaching in Hindi tips and tricks

 नमस्कार दोस्तों आज हम बहेतरीन क्रिकेटर जैसे की धोनी,विराट कोहली की तरह सफल बन ने के लिए हमारे जीवन में कुछ अछि आदते डाल नी हो गी उस के बारेमें बात करेंगे| सफल बल्लेबाज़ और बॉलर बन ने के लिए और क्रिकेट कर्रिएर को उच्चायी यो पे ले जाने के लिए हम ने निचे दी गयी ७ आदतों के बारेमें जो बताया है.उसे आप अपने जीवन में एक हिस्सा बना लो गे तो आप को अच्छा क्रिकेट कर्रिएर बना ने में कोई नहीं रोक सकता.दोस्तों हमारा १०० दावा है की निचे दी गए वीडियो में हमने जो बता या है वो आप फॉलो करो गे तो यकीनन ही आप क्रिकेट में सक्सेस हासिल करो गे |
Cricket Coaching In Hindi Tips
Cricket Coaching In Hindi Tips 




                                 This video about cricket coaching tips in Hindi 
Continue reading »

Cricket Games History In Hindi | क्रिकेट खेल का इतिहास

Cricket Games History In Hindi | क्रिकेट खेल का इतिहास 

The history of cricket game is about 500 years old today. It is believed that it was started in England by the children of the Weald village in the middle of the 16th century. This game was coined by cricket name French word 'croquet', which means a type of stick. In the beginning cricket was played with the help of a stick, which looks like today's hockey stick. By the 17th century this game was played by children only. After this the game started spreading its legs toward North America. So far this game has become very popular among the big boys.
Cricket Games History In Hindi | क्रिकेट खेल का इतिहास
Cricket Games History In Hindi | क्रिकेट खेल का इतिहास 

Start making law

In the 18th century, the game had strengthened its roots throughout England. In the meantime, the game of Gambling and Betting Playing was also started. Some gamblers started building betting on cricket by building their own team. To prevent this, the British Raj banned sports betting of more than 100 pounds on the game. In the beginning, for almost 200 years, cricketers were playing only for fun and without any rules and regulations. In 1744, for the first time in cricket, methods of pitch, bat and ball were made.

Cricket Club saved the game due to extinction

There was a time when this game was struggling to save its existence. People stopped playing this game due to the great war of seven years in the 18th century. But during this time, Hambledle was successful in saving the game because of a cricket club like Hampshire and Dartford. After this, in the 19th century, there was a similar crisis in Huawe's Napoleon war. In 1817, due to the fighting and fixing between Lord Frederick and George, questions were asked about the game. But the contribution of the county club has solved all these problems.
Cricket Games History In Hindi | क्रिकेट खेल का इतिहास
Cricket Games History In Hindi | क्रिकेट खेल का इतिहास 

The start of the game at international level

In the 19th century, this game started to gain popularity among countries like England, America, Canada and South Africa. In 1844, the first international match was played between the United States and Canada. In 1862, the England team visited Australia for the first time and from here it is considered to be the beginning of Test cricket. In 1822, the Australia team for the first time went on a tour of England. This match was played on the historic ground of Oval. This tour started the Ashes series between England and Australia, which is still going on till date.

History of cricket in India

Cricket in India was started by East India Company in 1721. The cricket club was started in Bombay and Calcutta in 1792. For the first time in the 19th century England team came to India to play cricket. Ranjit Singh was the first player to play international cricket on behalf of India. He first played cricket for the England team in 1896. The Ranji Trophy, which was held every year in India, was named after him. India played its first international match in 1932. After independence in 1952, the Indian team won the first match against England in a cricket match.

Start of modern cricket

In 1960, discussion started to start one day cricket. The number of hours in this format is limited. In the beginning, one-day matches were played for 60 overs. After this the number of the overs was reduced to 40. Eventually the ICC officially announced the 50-over ODI match. The one-day World Cup was introduced in 1975. India won the 1983 World Cup in the captaincy of Kapil Dev. This was followed by the introduction of cricket's fastest format T-Twenty cricket in the beginning of the 21st century. This format became the fastest among the youth. The first T-Twenty World Cup was held in 2007, in which India named it the title of its name.
Continue reading »