Essay On my favourite game cricket in hindi | मेरा प्रिय खेल क्रिकेट पर निबंध


Essay On my favorite game cricket in Hindi | मेरा प्रिय खेल क्रिकेट पर निबंध

फुटबॉल, बास्केटबॉल, बैडमिंटन समेत मैं कई तरह के खेल खेलता हूं, लेकिन क्रिकेट मेरा सबसे प्रिय खेल है। मुझे बचपन से ही क्रिकेट में सबसे ज्यादा रुचि रही है। मैंने मात्र 4 साल की उम्र में क्रिकेट खेलना शुरु कर दिया था। चाहे कितनी भी सर्दी या गरमी क्यों ना हो, मैं रोज़ाना अपने दोस्तों के साथ क्रिकेट खेलने पार्क जाता हूं। सुबह जल्दी उठकर क्रिकेट खेलने में मुझे काफी मजा आता है।
Essay On my favourite game cricket in hindi
Essay On my favourite game cricket in hindi



हमारी क्रिकेट टीम पूरे मौहल्ले में लोकप्रिय है। मेरे माता-पिता अक्सर मुझे क्रिकेट पर कम ध्यान देने के लिए कहते है। वे कहते है कि क्रिकेट के कारण मैं पढ़ाई पर कम ध्यान देता हूं। लेकिन ऐसा नहीं है मैं क्रिकेट के साथ-साथ पढ़ाई में भी पूरा ध्यान देता हूं। मैं बड़ा होकर विराट कोहली जैसा अच्छा क्रिकेटर बनना चाहता हूं। क्रिकेट खेलते समय मुझे बैटिंग करना सबसे अच्छा लगता है।


क्रिकेट की एक टीम में 11 खिलाड़ी होते है। दो टीमों के बीच खेले जाने वाले इस खेल में एक टीम बल्लेबाजी करती है और दूसरी टीम गेंदबाजी। पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम पहले दूसरी टीम को एक लक्ष्य देती है। अगर दूसरी टीम तय ऑवर्स से पहले वह लक्ष्य हासिल कर लेती है तो उस टीम को विजेता घोषित कर दिया जाता है। अगर पहले वाली टीम दूसरी टीम को लक्ष्य का पीछा करने से पहले ही आउट कर देती है तो वह विजेता टीम कहलाती है। पूरे मैच के दौरान दोनों टीमों में से जो खिलाड़ी सबसे बेहतर प्रदर्शन करता है उसे मैन ऑफ द मैच का अवॉर्ड भी दिया जाता है।
Essay On my favourite game cricket in hindi
Essay On my favourite game cricket in hindi


 टीवी पर जब भी भारत की टीम का मैच आता है तो मैं कभी मिस नहीं करता। भारत-पाकिस्तान के बीच मैच मुझे सबसे पसंद है। विराट कोहली के अलावा सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग, महेंद्र सिंह धोनी और युवराज सिंह मेरे पसंदीदा क्रिकेटर्स है। एक बार दिल्ली के फिरोजशाह कोटला में मैं इंडिया टीम का मैच देखने भी गया था। वह दिन मेरी ज़िन्दगी के सबसे अच्छे दिनों में से एक था। उस मैच में भारत ने श्रीलंका को हराया था। क्रिकेट खेलने के कई फायदे भी होते है।

क्रिकेट खेलने से आप हमेशा फिट रहते है। बल्लेबाजी, गेंदबाजी और फील्डिंग के समय आपके शरीर की अच्छी कसरत हो जाती है। इसके अलावा आपका स्टामिना बढ़ाने में भी क्रिकेट काफी मदद करता है। पढ़ाई करते-करते कई बार मैं काफी बोर हो जाता हूं। ऐसे में कुछ देर दोस्तों के साथ क्रिकेट खेलने पर मैं रिफ्रैश फील करने लगता हूं। क्रिकेट खेलते समय वीडियो गेम औज कंप्यूटर पर भी मेरा ध्यान नहीं जाता। क्रिकेट मेरी लाइफ का एक जरुरी हिस्सा बन गया है।

किसी दिन अगर मैं क्रिकेट नहीं खेलता तो अधुरा अधुरा सा लगता है। बीमार होने पर मम्मी कहती है कि घर पर आराम कर लेकिन मैं फिर भी क्रिकेट खेलने चला जाता हूं। क्रिकेट खेलने से मेरी बीमारी भी दूर हो जाती है। जल्द ही मैं क्रिकेट सीखने के लिए कोचिंग लेना भी शुरु कर दूंगा। मेरे सभी दोस्त कहते है कि एक दिन मैं बहुत अच्छा खिलाड़ी बनूंगा, लेकिन मैं बड़ा होकर डॉक्टर भी बनना चाहता हूं। दादी मां कहती है ये तो वक्त ही बताएगा कि मैं बड़ा होकर क्या बन पाता हूं।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें